img

 

 रायबरेली। 

उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले में लगातार हो रही अपराधिक घटनाओं में कोई कमी नहीं आ रही है। एक मामला गदागंज थाना क्षेत्र का है जिससे इलाके में सनसनी मची हुई है। ऊंचाहार उन्नाव रेलखंड पर विगत दो माह के अंदर यह चौथी घटना है। लगातार घटना का केंद्र बिंदु जलालपुर धई स्टेशन बना हुआ है। एक बार फिर जलालपुर धई रेलवे स्टेशन के निकट गुरुवार की सुबह एक युवक का शव मिला। स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना थाना गदागंज और जीआरपी को दी। मौके पर पहुंची जीआरपी पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा।

रेलवे ट्रैक पर मिला शव

गुरुवार को जलालपुर धई रेलवे स्टेशन के रेलवे फाटक के निकट एक युवक का क्षत-विक्षत अवस्था में शव मिला जो रेलवे ट्रैक पर स्थानीय लोगों ने देखा। शव की सूचना मिलते ही हड़कंप मच गया। स्थानीय लोगों ने तत्काल इसकी सूचना जीआरपी पुलिस व थानाध्यक्ष गदागंज को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लिया था। पुलिस ने शव की पहचान कराई तो मृतक की पहचान बृजेश कुमार निवासी पूरे रामनाथ सिंह मजरे दाऊदपुर गढ़ी के रूप में हुई।

परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

 

परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

घटनास्थल पर पहुंची मृतक की मां ज्ञानवती ने बताया कि उसके बेटे के साथ कुछ लोगों ने मारपीट की थी। शाम को खाना खाकर सो गया, सुबह बिस्तर से गायब मिला। मृतक तीन भाइयों में सबसे छोटा था। दो भाई पंजाब में भट्टे पर मेहनत-मजदूरी करके अपना गुजारा करते हैं। छोटा भाई भी घर पर रहकर मेहनत-मजदूरी करके किसी तरह से अपने परिवार का पेट पालता था। एसआई जीआरपी मोहम्मद मुकरीम ने बताया कि पीएम रिपोर्ट आने के बाद जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

परिजनों ने किया रोड जाम

परिजनों ने किया रोड जाम

मृतक के परिजनों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुये हत्या की एफआईआर लिखाने की मांग की थी। आरोप है कि पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया जिसके बाद परिजन हंगामा करने लगे और रोडजाम कर दिया। उनकी मांग थी कि पहले पुलिस एफआईआर लिखे कि उस युवक की हत्या की गई है। इस पूरे मामले में थाना गदागंज एसओ ने कहा कि मैं एफआईआर लिखने को तैयार हूं। जो भी इस मामले में दोषी पाया जायेगा उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी।