img

ब्राज़ील के स्टार फॉरवर्ड नेमार बुधवार को अपने टीम के साथी खिलाड़ियों को बताया कि वह बार्सिलोना से जा रहे हैं. नेमार ने कहा कि वह फ्रांस के फुटबॉल क्लब पेरिस सेंट जर्मेन (पीएसजी) में जा रहे हैं.

समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, नेमार ने कथित तौर पर बार्सिलोना के जोआन गेम्पर शहर आए थे, लेकिन वह जल्द ही बिना कोई ट्रेनिंग किए चले गए. क्लब के सूत्रों का कहना है कि कोच ने नेमार को ट्रेनिंग में शामिल न होने की अनुमति दी थी.

नेमार 2013 में 8.62 करोड़ यूरो (10.2 करोड़ डॉलर) में बार्सिलोना क्लब में शामिल हुए थे और अब तक उन्होंने 186 मैचों में 105 गोल दागे हैं.

इन्हीं अटकलों की वजह से बार्सिलोना ने अपने स्टार स्ट्राइकर नेमार का दो करोड़ 60 लाख यूरो का बोनस का भुगतान रोक दिया. वह अभी यूरोप के दो क्लबों के बीच चल रही रस्साकसी के केंद्र में है और यह फुटबॉल इतिहास का सबसे महंगा स्थानान्तरण हो सकता है.

अटकलें हैं कि यह 25 वर्षीय खिलाड़ी 22 करोड़ 20 लाख यूरो के विश्व रिकॉर्ड अनुबंध की खातिर बार्सिलोना को छोड़कर पीएसजी से जुड़ सकते हैं.

नेमार 2013 में 8.62 करोड़ यूरो (10.2 करोड़ डॉलर) में पांच साल के करार के साथ बार्सिलोना क्लब में शामिल हुए थे और अब तक उन्होंने 186 मैचों में 105 गोल दागे हैं. बार्सिलोना के साथ उन्होंने 2014–15, 2015–16 का ला लिगा खिताब जीता था.

इसके साथ 2014–15, 2015–16, 2016–17 में टीम को कोपा डेल रे का खिताब भी दिलाया था. इसी दौरान टीम ने यूएफा चैंपियंस लीग का खिताब 2014–15 में जीता था. जबकि टीम ने 2015 में फीफा क्लब वर्ल्ड कप का खिताब भी जीता था.

नेमार के इस ट्रांसफर को राजनैतिक रूप से भी देखा जा रहा है. पीएसजी का मालिकाना हक कतर के पास है. इस डील के साथ कतार अरब देशों को बताना चाहता है कि भले ही बाकि के गल्फ कंट्री उसके विरोध में हो लेकिन उससे देश को कोई नुकसान नहीं होने जा रहा है.

साथ ही कतर 2022 के फुटबॉल वर्ल्ड कप में नेमार को एक बड़े चेहरे के तौर पर सामने लाना चाहता है क्योंकि कतार के पड़ोसी देशों ने इस विश्व कप का विरोध किया है. भले ही इस डील से राजनैतिक बदलाव न हो लेकिन क्लब अब चैंपियंस लीग में मजबूत होकर वापसी करना चाहेगी