img

 

लखनऊ। 

लोकसभा चुनाव 2019 में कल पहले चरण के मतदान के बाद भी बहुजन समाज पार्टी को ईवीएम पर आपत्ति होने लगी। पार्टी के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने कल जहां चुनाव आयोग में दबंगई की शिकायत की है, वहीं बसपा प्रमुख मायावती ने एक बार फिर ईवीएम का मुद्दा उठा दिया है।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक बार फिर से भाजपा पर हमला बोला है। मायावती ने फिर से ईवीएम का मुद्दा उठाते हुए भाजपा पर धांधली का आरोप लगाया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि सत्ताधारी भाजपा को इस लोकसभा चुनाव में आम जनता ने नकार दिया है। भाजपा को इस बुरी तरह से नकारे जाने का ही परिणाम है कि अब भाजपा वोट से नहीं बल्कि नोटों से, ईवीएम की धांधली से, पुलिस/प्रशासन तंत्र के दुरुपयोग से, ईवीएम में चुनाव कर्मचारियों से ही बटन दबवाकर आदि धांधलियों से चुनाव जीतना चाहती है।

Mayawati
 
@Mayawati
 
 

सत्ताधारी बीजेपी को इस लोकसभा चुनाव में आमजनता द्वारा बुरी तरह से नकारे जाने का ही परिणाम है कि अब
* बीजेपी वोट से नहीं बल्कि नोटों से
* ईवीएम की धांधली से
* पुलिस/प्रशासन तंत्र के दुरुपयोग सेे
* ईवीएम में चुनाव कर्मचारियों से ही बटन दबवाकर आदि धांधलियों से चुनाव जीतना चाहती है।

बसपा मुखिया मायावती ने आगे लिखा कि यदि देश के लोकतंत्र में आमजनता की आस्था को बचाए रखना है तो फिर चुनाव आयोग की यह संवैधानिक जिम्मेदारी बनती है कि वह इन बातों को गंभीरतापूर्वक संज्ञान ले, तत्काल आवश्यक उपाय करे। ताकि अगले सभी चरण के चुनाव स्वतंत्र व निष्पक्ष हो सके।

बसपा ने चुनाव आयोग को कल पत्र लिखकर यूपी में दलितों को वोट करने से रोके की शिकायत करते हुए तत्काल हस्तक्षेप की मांग की है। निर्वाचन आयोग को लिखे पत्र में बसपा ने कहा कि यूपी के कई पोलिंग बूथ से हमें शिकायतें मिल रही हैं कि पुलिस वहां पर दलित वोटरों को मतदान करने से रोक रही है। यह बेहद चिंताजनक है। इस मामले में चुनाव आयोग तत्काल हस्तक्षेप करे।

  

Mayawati
 
@Mayawati
 
 

सत्ताधारी बीजेपी को इस लोकसभा चुनाव में आमजनता द्वारा बुरी तरह से नकारे जाने का ही परिणाम है कि अब
* बीजेपी वोट से नहीं बल्कि नोटों से
* ईवीएम की धांधली से
* पुलिस/प्रशासन तंत्र के दुरुपयोग सेे
* ईवीएम में चुनाव कर्मचारियों से ही बटन दबवाकर आदि धांधलियों से चुनाव जीतना चाहती है।

उत्तर प्रदेश में कल सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, मेरठ, बागपत, बिजनौर, गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर लोकसभा क्षेत्र में मतदान हुआ है। सपा-बसपा व राष्ट्रीय लोकदल के महागठबंधन ने अपने प्रत्याशी चुनावी मैदान में उतारे है। कल चार सीटों पर बसपा और दो-दो पर समाजवादी पार्टी व राष्ट्रीय लोकदल के प्रत्याशियों ने ताल ठोंकी है। बसपा लोकसभा चुनाव 2019 में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड व मध्य प्रदेश में समाजवादी पार्टी व राष्ट्रीय लोकदल के साथ गठबंधन कर मैदान में है। इसके साथ ही बसपा इस बार हरियाणा, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना, बिहार व छत्तीसगढ़ में मैदान में है।